Tuesday, December 29, 2009

नव वर्ष की बधाई हो

नव वर्ष की सबों को
बधाई हो बधाई,
सुहानी भोर अपने संग
सूरज आस का है लाई,

बीते पल और
बीती बातें
सुख के दिन या
ग़म की रातें,
पीछे छोड़
सबको अब
चली नई फिर से
पुरवाई

अपने ख़्वाबों के
ख़ुदा से सुन
मांगता क्यों
हर घड़ी हर क्षण,
रास्तों पे
चल के देख
कली दिल की
मुस्कुराई,

तुम बीज प्रेम के
बिखेर दो
दिल पे लिखा ये
संदेश देख लो,
हर पंखुड़ी हसीन
नव धरा पे
खिल रही
है भाई,
नव वर्ष की
बधाई हो
बधाई...

3 comments:

  1. नववर्ष की बहुत बधाई एवं अनेक शुभकामनाएँ!

    समीर लाल
    उड़न तश्तरी

    ReplyDelete
  2. नव वर्ष की आपको भी बहुत बधाई..
    शैलजा

    ReplyDelete